PHP क्या है? and What is PHP in Hindi 2023?

जय हिन्द दोस्तों, आज हम इस आर्टिकल में “PHP in Hindi – (PHP क्या है और इसके फायदे)” के बारे में जानेंगे। इसे बहुत सरल भाषा में लिखा गया है जो आपको समझने में मदद करेगी। इसे पूरा पढ़ें, ताकि आप इसके फायदों को समझ सकें। चलो शुरू करते हैं |

आपने इंटरनेट पर PHP के बारे में सुना होगा, लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि यह क्या होता है और इसे कैसे उपयोग किया जाता है। यह एक प्रोग्रामिंग भाषा है जो वेब डेवलपमेंट के लिए बनाई गई है। यह बहुत सरल भाषा है जो वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग की जाती है।

इस लेख में, हम आपको PHP के बारे में विस्तार से बताएंगे। आप इस लेख को ध्यान से पढ़ेंगे तो आपको यह बिल्कुल समझ में आ जाएगा कि PHP क्या है और यह कैसे काम करता है।

PHP क्या है?

PHP क्या है (Hypertext Preprocessor) एक open source scripting language है जो web development में इस्तेमाल किया जाता है। इसका use primarily dynamic web pages तैयार करने के लिए किया जाता है। इसकी syntax easy है जिससे नए developers को इस्तेमाल करने में आसानी होती है। यह एक server-side scripting language होती है जो की HTML code को डायनामिक बनाती है। PHP की मदद से आप data processing, file handling, and database management कर सकते हैं। इसलिए, PHP का use website development में काफी ज्यादा होता है।

इसके अलावा, PHP का use content management systems (CMS) जैसे WordPress, Joomla, Drupal आदि में भी किया जाता है। ये CMS उन लोगों के लिए बेहतर होते हैं जो web development के बारे में ज्यादा नहीं जानते होते हैं या समय की कमी के कारण अपनी website को develop नहीं कर पाते हैं। इन CMS के जरिए उन्हें आसानी से website develop करने का मौका मिलता है जो की PHP का use करके बनाया जाता है।

इसलिए, PHP एक बहुत ही महत्वपूर्ण scripting language है जो की web development के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका use वेबसाइट्स को dynamic और interactive बनाने के लिए किया जाता है जो की आज के digital world में बहुत ज्यादा important है।

PHP के अलावा भी अन्य scripting languages हैं जैसे HTML, CSS, JavaScript आदि जो web development में इस्तेमाल होते हैं। लेकिन PHP का use server-side scripting language होने के कारण ज्यादा recommended होता है। इसके साथ-साथ PHP की कुछ advanced features हैं जो की web development के लिए बहुत ही उपयोगी होते हैं। इसलिए, PHP का use एक अच्छी website develop करने के लिए एक अच्छी विकल्प हो सकता है।

अंत में, PHP एक बहुत ही उपयोगी scripting language है जो की web development के लिए इस्तेमाल होता है। इसका use स्टैटिक websites से लेकर बड़ी-बड़ी e-commerce websites तक होता है। इसलिए, यदि आप एक website developer हैं या web development के बारे में सीखना चाहते हैं तो PHP एक अच्छी scripting language हो सकती है जिसे आप अपनी skills में जोड़कर अपने career को आगे बढ़ा सकते हैं।

PHP क्या है? PHP को कहाँ इसको इस्तेमाल किया जाता है ?

PHP एक programming language है जो की web development के लिए बहुत ज्यादा इस्तेमाल होता है। इसे Personal Home Page के नाम से भी जाना जाता है। PHP का use server-side scripting language के तौर पर किया जाता है जो की client-side scripting language के विपरीत होता है। इसका use वेबसाइट्स को dynamic बनाने के लिए किया जाता है जो की आज के digital world में बहुत ज्यादा important है।

PHP की पैदाइश रामेश लक्ष्मणान के द्वारा की गयी थी जो की 1994 में ये लैंग्वेज develop करते हुए करते थे। इसके बाद 1995 में, उन्होंने PHP 2 release किया था जो की एक scripting language के रूप में develop किया गया था। उसके बाद से PHP के कई versions आए हैं जिनमें सबसे latest version PHP 8 है जो की 2020 में release हुआ था।

यह language “Dynamic website” डिज़ाइन करने के लिए इस्तेमाल होती है। जब एक यूज़र अपने ब्राउज़र से php web page की रिक्वेस्ट भेजता है, तब उसमें लिखे गए php code को web server में जो php module installed है, उसके अंदर प्रोसेस होता है। php pre processor HTML Output generate करता है जिसे आप अपने Web Browser में देखते हो।

वेब पेज के कुछ प्रकार होते हैं जैसे कि Static pages और Dynamic pages। Static pages एक ऐसे पेज को कहते हैं जो कभी भी change नहीं होता है, जबकि Dynamic pages एक ऐसे पेज को कहते हैं जो बदलता रहता है उनमें से एक तकनीक है php। इसलिए, यदि आप php का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आपको उपर लिखे गए तकनीकी शब्दों को थोड़ा समझना होगा जिससे आपको यह समझने में आसानी होगी।

PHP का इतिहास

PHP की पैदाइश Rasmus Lerdorf के द्वारा की गयी थी जो की 1994 में ये लैंग्वेज develop करते हुए करते थे। उन्होंने PHP को Personal Home Page Tools के नाम से develop किया था जो की एक server-side scripting language था।

PHP 2 का release 1995 में हुआ था जो की PHP का एक scripting language के रूप में develop किया गया था। इसके बाद PHP 3 और PHP 4 के versions भी release किए गए थे।

PHP 5 जो की 2004 में release हुआ था, उसमें बहुत सारी new features जैसे Object-Oriented Programming (OOP), MySQL extension, exception handling आदि शामिल थी। इसके अलावा, PHP 7 के release से इसमें और भी improvements आए थे। आज के दौर में, PHP 8 सबसे latest version है जो की 2020 में release हुआ था।

PHP की विशेषताएं

PHP एक open-source scripting language है जो कि web development के लिए उपयोग किया जाता है। यह server-side scripting language होता है जो कि उपयोगकर्ता के ब्राउज़र से बातचीत करता है।

PHP की सबसे अच्छी विशेषता यह है कि इसकी सुविधाएं खासकर वेब development के लिए बनाई गई हैं। इसके द्वारा उपयोगकर्ता विभिन्न वेब पेज को dynamic बनाकर दिखा सकते हैं। साथ ही, PHP का code को लिखना भी आसान होता है जो कि नए developers के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

PHP क्या है-PHP Basics (भाषा के बेसिक्स)

PHP Data Types

PHP में विभिन्न प्रकार के डेटा टाइप्स होते हैं जैसे कि स्ट्रिंग (String), इंटीजर (Integer), फ्लोट (Float), बूलियन (Boolean) और अरे (Array)। इन डेटा टाइप्स का उपयोग करके, आप PHP में डेटा को संरचित और सुविधाजनक तरीके से प्रबंधित कर सकते हैं।

स्ट्रिंग डेटा टाइप का उपयोग टेक्स्ट डेटा के लिए होता है, इंटीजर डेटा टाइप अंकों के लिए होता है, फ्लोट डेटा टाइप दशमलव संख्याओं के लिए होता है, बूलियन डेटा टाइप सच या झूठ की स्थिति के लिए होता है और अरे डेटा टाइप का उपयोग एक समूह के तत्वों को रखने के लिए होता है।

PHP में डेटा टाइप्स का उपयोग डेटा के संचालन और प्रबंधन को सुविधाजनक बनाने में मदद करता है।

इसके अलावा, PHP में अन्य डेटा टाइप्स भी होते हैं जैसे कि ऑब्जेक्ट (Object), रिसोर्स (Resource) और नल (Null)। ऑब्जेक्ट डेटा टाइप इंस्टेंस वाले ऑब्जेक्ट को रखने के लिए होता है, रिसोर्स डेटा टाइप बाहरी संसाधनों के संदर्भ को रखने के लिए होता है और नल डेटा टाइप किसी भी मान के अभाव को दर्शाता है।

PHP में इन डेटा टाइप्स का उपयोग अलग-अलग स्थितियों में किया जाता है। इन्हें समझना महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर आप इन डेटा टाइप्स का सही उपयोग नहीं करते हैं, तो आपके कोड में त्रुटियां हो सकती हैं।

एक समझौता जो PHP में डेटा टाइप्स के साथ आता है, वह है कि डेटा टाइप को निर्दिष्ट करने के लिए कोई डेटा टाइप नाम लिखने की जरूरत नहीं होती है। इसे “लूसली टाइपिंग” कहा जाता है, जिसका मतलब होता है कि PHP आपके कोड में स्वतः ही डेटा टाइप को पहचान सकता है।

PHP Variables

“PHP वेरिएबल्स” एक प्रकार के डेटा टाइप होते हैं जो PHP में इस्तेमाल किए जाते हैं। इन वेरिएबल्स में वैल्यू रखा जाता है जिन्हें वेरिएबल्स कहा जाता है।

PHP में वेरिएबल्स का नाम आप खुद रख सकते हैं और उन्हें डेफाइन करने के लिए “$” चिह्न लगाया जाता है। इन वेरिएबल्स का नाम उनके वैल्यू से जोड़ते हुए प्रयोग किया जाता है।

यदि आप किसी वेरिएबल का नाम बदलना चाहते हैं तो आप उसके नए नाम के साथ फिर से डेफाइन कर सकते हैं। इसे आप उसी स्थान पर कर सकते हैं जहाँ पहले वेरिएबल को डेफाइन किया गया था।

PHP में वेरिएबल्स की एक महत्वपूर्ण बात है कि ये बाइंडिंग के आधार पर काम करते हैं। इसका मतलब है कि जब आप एक वेरिएबल को एक वैल्यू से जोड़ते हैं, तो उसका मूल्य बदल जाता है और उससे जुड़े सभी वेरिएबल्स का मूल्य भी बदल जाता है।

Operators

PHP में उपयोग होने वाले विशेष चिह्न होते हैं जो दो या दो से अधिक वेरिएबल्स को एक साथ मिलाकर नया मूल्य बनाने के लिए काम आते हैं। इनमें गणितीय ऑपरेटर्स, शब्दों के लिए शब्दांश ऑपरेटर्स और अन्य विशेष ऑपरेटर्स शामिल होते हैं। ऑपरेटर्स का उपयोग करने से पहले, आपको उनकी उत्पत्ति, उपयोग और प्रभाव को समझना आवश्यक होता है।

Control Statement

PHP में कंट्रोल स्टेटमेंट्स के द्वारा हम कोड के अलग-अलग हिस्सों को नियंत्रित कर सकते हैं। इन स्टेटमेंट्स के इस्तेमाल से हम शर्तों के अनुसार कोड के हिस्सों को निर्देशित कर सकते हैं और उन्हें समझौते के तहत उपयोग कर सकते हैं। इसमें if, else, switch, while, do-while, for, continue और break जैसे विभिन्न शब्द होते हैं। इन सभी का इस्तेमाल करके हम कोड को बेहतर तरीके से लिख सकते हैं और उसमें समझौते कर सकते हैं। इन स्टेटमेंट्स को समझने के लिए, हमें उनकी विस्तृत जानकारी और उनके उपयोग को समझना आवश्यक होता है।

Programming Language 

प्रोग्रामिंग भाषा एक ऐसी भाषा होती है जिसकी मदद से हम computer को अपने हिसाब से काम करवा सकते हैं। इसमें कई तरह की भाषाएं होती हैं जैसे C, C++, Java, Python, PHP, JavaScript आदि। हर भाषा का अपना syntax होता है जिससे कोड लिखा जाता है। इसमें विभिन्न keywords, operators, functions और वेरिएबल्स का इस्तेमाल किया जाता है जो कि एक विशिष्ट task को करने के लिए होते हैं।

प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग सभी स्थानों पर होता है, जैसे कंप्यूटर, मोबाइल, टैबलेट, वेबसाइट्स, ऐप्स आदि में। इससे हम किसी भी समस्या का एक समाधान तैयार कर सकते हैं जो कंप्यूटर द्वारा समझ में आ सके। इसके अलावा, ये भाषाएं स्कूल व विश्वविद्यालयों में भी सिखाई जाती हैं जो कि छात्रों को तकनीकी ज्ञान और नई सूचना प्रौद्योगिकी के बारे में शिक्षित करती हैं।

General Purpose Programming Language

PHP एक जनरल पर्पस प्रोग्रामिंग भाषा है, जो वेब डेवलपमेंट के लिए उपयोग की जाती है। PHP की मदद से आप वेब साइट या वेब एप्लीकेशन तैयार कर सकते हैं जो इंटरैक्टिव होंगे और उपयोगकर्ताओं को अधिक सुविधा प्रदान करेंगे। यह सामान्य उपयोग के लिए बनाई गई है और सभी तरह की वेब साइट या एप्लीकेशन तैयार करने में उपयोगी होती है। PHP में बहुत से फंक्शन और विशेषताएं होती हैं जो इसे अधिक उपयोगी बनाती हैं। इसलिए, यह एक लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषा है जो वेब डेवलपमेंट के लिए उपयोग की जाती है।

PHP कैसे और कहाँ से सीखें

PHP सिखना बहुत आसान हो गया है और इसके लिए कुछ ऑनलाइन संसाधन उपलब्ध हैं। आप इंटरनेट पर PHP सीखने के बहुत सारे मुफ्त और पेड़ कोर्स ढूंढ सकते हैं। यह आपके बजट में भी फिट होगा।

पहले आप PHP की बुनियादी जानकारी को समझने के लिए ऑनलाइन कुछ बुक्स या ट्यूटोरियल पढ़ सकते हैं। यह आपको PHP के संदर्भ में जानकारी देगा, जिससे आप अपनी पहली वेबसाइट बना सकते हैं।

आप PHP सीखने के लिए वेबसाइटों और ऑनलाइन कोर्स का भी उपयोग कर सकते हैं। इन कोर्सों में आपको पूरी जानकारी मिलेगी और आप उसे आसानी से सीख सकेंगे। इन कोर्सों का चयन करते समय, आपको अपने शैक्षणिक ज्ञान के आधार पर चयन करना चाहिए।

हर कोई जैसे teenager, student और businessman अपनी खुद की website बनाने की इच्छा रखता है। लेकिन उनकी जानकारी की कमी के कारण वे इसे सीख नहीं पाते। अधिकतर लोग Internet पर WEB Developer की मदद से website बनवाते हैं, लेकिन इसके लिए वे बहुत से पैसे खर्च करने के लिए तैयार होते हैं। वे कम से कम 30000 से 200000 रुपए तक ले लेते हैं। अगर आप दूसरों के लिए और अपने लिए website design करना चाहते हो, तो PHP सीखना बहुत उपयोगी होगा। आप अगर दूसरों के लिए website बनाना चाहते हैं और कुछ income कमाना चाहते हैं, तो PHP सीखना आवश्यक है। इस Language को सीखने के लिए काफी समय और पढ़ाई की जरूरत होती है।

आपको इन कोर्सेज के बारे में थोड़ा समय लगेगा लेकिन आप फ्री में PHP सीख सकते हो. इनमें से कुछ ऑनलाइन होते हैं जिन्हें आप अपने समय के अनुसार पढ़ सकते हैं। जबकि कुछ कोर्सेज आपको ऑफलाइन मिलेंगे और आप उन्हें पढ़ने के लिए अपने घर से बाहर निकलने की आवश्यकता नहीं होगी। यहां हमने कुछ फ्री PHP कोर्सेजों के बारे में बताया है जो आपको ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में मिलेंगे:

  1. PHP कोर्स ऑनलाइन – https://www.coursera.org/courses?query=php
  2. PHP कोर्स ऑनलाइन – https://www.edx.org/learn/php
  3. फ्री PHP कोर्स – https://www.sololearn.com/Course/PHP/
  4. PHP 7 कोर्स – https://php7-tutorial.com/
  5. ऑनलाइन PHP कोर्स – https://www.codecademy.com/learn/learn-php
  6. PHP कोर्स ऑनलाइन – https://www.udacity.com/course/php-web-development–ud1110
  7. फ्री PHP कोर्स – https://www.w3schools.com/php/default.asp
  8. PHP कोर्स ऑनलाइन – https://www.learn-php.org/
  9. ऑनलाइन PHP कोर्स – https://www.php.net/manual/en/index.php
Share Your Scholar Friend

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Index